Rooftop Solar Subsidy Amount

10 किलोवॉट तक सोलर लगवाने पर कितनी सब्सिडी मिलती थी

यहाँ पर मैंने एक किलो वाट दो किलोवॉट से लेकर 10 किलोवॉट तक सोलर लगवाने पर कितनी सब्सिडी मिलती थी वो लिखा है और उसके सामने जो आप देख रहे हैं। 2024 के नए सब्सिडी रेट्स हैं, जो 5 जनवरी 2024 से गवर्नमेंट ऑफ इंडिया ने शुरू कर दी है। तो यहाँ पर आप देख सकते हैं सब्सिडी का अमाउंट कितना ज्यादा बढ़ गया है। एक किलोवॉट सोलर लगवाने पर ₹14,588 की सब्सिडी पहले आपको मिलती थी, जो अब बढ़कर 18,000 हो चुकी है। इसी तरह से आप 235 या 10 किलोवॉट का सोलर लगाएंगे तो उस पर भी सब्सिडी का अमाउंट बढ़ गया है।

10 किलोवॉट सोलर लगवाने पर पहले आपको 94,822 की सब्सिडी मिलती थी। अब वो बढ़कर 1,17,000 हो गई है। ये सब्सिडी आपको तब मिलती है। तो आपका घर जड़ से जुड़ा हुआ है, छत आपकी खुद की और अपनी छत पर। आप सोलर पैनल लगवाते हैं तो 10 किलोवॉट तक सोलर लगवाने पर आपको ये सब्सिडी मिलती हैं।

10 किलोवॉट से ऊपर अगर आप लगवाओगे तो सब्सिडी नहीं मिले गी और ये सब्सिडी सेंट्रल गवर्नमेंट की तरफ से जो पूरे देश में लागू है। लेकिन कुछ ऐसी जगह होती है जो थोड़े हिली एरिया में पड़ जाती है या फिर मेनलैंड इंडिया से थोड़ा डिस्कनेक्टेड है। जहाँ तक पहुंचना थोड़ा मुश्किल होता है। ऐसे स्टेटस के लिए सब्सिडी का अमाउंट थोड़ा ज्यादा बढ़ गया है।

इन स्टेटस की लिस्ट में सेवन नॉर्थ ईस्ट स्टेटस आ जाते हैं

इन स्टेटस की लिस्ट में सेवन नॉर्थ ईस्ट स्टेटस आ जाते हैं, जिसमें मिज़ोरम, मणिपुर, त्रिपुरा, मेघालय, नागालैंड, असम, अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम इन्क्लूडेड है। इसके अलावा जो हमारे साइड हो जाते हैं, जिसमें लद्दाख यूनियन टेरिटरी ऑफ जम्मू एंड कश्मीर, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में इन्क्लूडेड है।

इसके अलावा इंडिया के जो आइलैंड स्टेट है, जिसमें लक्षद्वीप और अंडमान और निकोबार आइलैंड भी इन्क्लूडेड है। अगर आप इनमें से किसी स्टेट में रहते हो और सोलर लगवाते हो तो आपको अमाउंट थोड़ा बढ़कर मिलेगा। कितना मिलेगा ये जो देख रहे हैं इसमें आप देख सकते हैं।

एक किलोवॉट से 10 किलोवॉट का सोलर ग्राफ लगाते थे तो 2023 में कितना अमाउंट मिलता था और इसके सामने अब आप देख रहे है की अब ये अमाउंट बढ़कर कितना हो गया है। एक किलोवॉट का सोलर अगर आप लगवाएंगे तो 20,000 की सब्सिडी आपको मिलेंगी और उसके बाद जैसे जैसे बढ़ता जाएगा मैक्सिमम 10 किलोवॉट तक सोलर लगवाने पर ₹1,30,000 की सब्सिडी आपको मिलेगा।

इसके बाद आजाते हैं वो लोग जो बड़ी बड़ी बिल्डिंग्स में रहते हैं, अपार्टमेंट में रहते हैं, जिनको ग्रुप हाउसिंग सोसाइटी बोलते है, छत उनकी खुद की कॉमन नहीं होती, लेकिन वो भी सोलर लगवाना चाहते हैं तो क्या वो लगवा सकते हैं और क्या? वो सब्सिडी मिले गी बिल्कुल मिले गी।

आपके पास खुद की छत नहीं है

आपके पास खुद की छत नहीं है, लेकिन आप की सोसाइटी में कुछ ऐसा कॉमन एरिया है जैसे बिल्डिंग की जो छत है वो कॉमन छत है, सबकी है वहाँ पर आप लगवा सकते हैं। पूरी सोसाइटी की जो कॉमन फैसिलिटीज होती है जैसे आपकी सोसाइटी में लाइट है, लिफ्ट है, वाटर कनेक्शन है, ये सारी कॉमन फैसिलिटीज के लिए जो इलेक्ट्रिसिटी यूज़ होती है, उसके फुलफिलमेंट के लिए आप सोलर लगवा सकते हो और वहाँ पर भी आपको सब्सिडी मिले गी तो वहाँ पर जो सोलर प्रोजेक्ट है वो थोड़े बड़े लगते हैं। तो इसलिए आप अपने स्क्रीन पर देख सकते हो।

यहाँ पर मैंने आपको बताया अगर आप 100 किलोवॉट 200 किलोवॉट से लेकर 500 किलोवॉट तक का सोलर सेटअप लगाते हो तो कितनी सब्सिडी आपको मिलती थी? 2023 में और यहाँ पर भी आप देख सकते हो सब्सिडी का अमाउंट 2024 में अब बढ़ गया है। 100 किलोवॉट का सोलर सेटअप अगर आप लगाते हो तो ₹9,00,000 तक की सब्सिडी आपको मिल जाती है।

और इस तरह से जैसे ही आपका सेटअप बढ़ता जाएगा, 500 किलोवॉट तक का सोल्ड सेटअप। अगर आप लगवाते हो तो ₹45,00,000 तक की सब्सिडी आपको मिल जाती है। वहीं अगर आप की सोसाइटी स्पेशल स्टेटस के अंदर आती है जो भी मैंने आपको गिनवाए थे तो अगेन ये अमाउंट थोड़ा ज्यादा बढ़ जाएगा। कितना बढ़ जाएगा वो आप अपनी स्क्रीन पर देख सकते हैं।

100 किलोवॉट के लिए आपको 10,00,000 की सब्सिडी मिलेगी

100 किलोवॉट के लिए आपको 10,00,000 की सब्सिडी मिले, गी और जैसे जैसे आपका सेटअप बढ़ेगा 500 किलोवॉट तक के सोलर के ऊपर आपको 50,00,000 की सब्सिडी मिल जाएगी। 500 किलोवॉट से ज्यादा का सोलर स्ट्रीट अगर आप लगवाते हो तो कोई सब्सिडी नहीं मिले गी सब से इम्पोर्टेन्ट बात ये जो सब्सिडी का बढ़ा हुआ अमाउंट है।

ये 5 जनवरी 2024 से शुरू हुआ है तो अगर आपने अपने घर पर लगवाया था सब्सिडी लेकर 5 जनवरी से पहले तो आपको पुराना अमाउंट ही मिलेगा। 5 जनवरी के बाद अगर आपने अप्लाई किया है तो आपको बड़ा हुआ अमाउंट मिलेगा।

अब एक चीज़ का और ध्यान रखना ये जो सब्सिडी मैंने आपको बताईये गवर्नमेंट की तरफ से है। काफी सारे ऐसे स्टेटस हैं जिनमें स्टेट गवर्नमेंट भी सब्सिडी देती है तो वो अमाउंट इसके ऊपर ऐड हो जाएगा तो वहाँ पर आपको ज्यादा सब्सिडी मिले गी फॉर एग्जाम्पल, जम्मू एंड कश्मीर, उत्तर प्रदेश कुछ ऐसे स्टेट होते हैं जहाँ पर स्टेट गवर्नमेंट के भी सब्सिडी होती है। लगवाने पर तो वहाँ पर आपको ज्यादा सब्सिडी मिले गी।

अब सब्सिडी का अमाउंट तो मैंने बता दिया, लेकिन सब्सिडी लेने के लिए कुछ कंडिशन्स हैं जिनका आपको ध्यान रखना है। सबसे पहले रेजिडेंशियल प्रोजेक्ट के ऊपर ही सब्सिडी मिले गी कमर्शल के ऊपर नहीं मिलेंगी। यानी की दुकान, ऑफिस, फैक्टरी इन सब पर सब्सिडी नहीं है।

घर पर सोलर लगवा रहे हो तभी सब्सिडी मिलेंगी

घर पर सोलर लगवा रहे हो तभी सब्सिडी मिलेंगी। दूसरा आपका जो सोलर सेटअप है वो होना चाहिए जिसमें बैटरी नहीं होती, ग्रिड से कनेक्शन आता है, सोलर सेटअप के साथ कनेक्टेड होता है। जितनी बिजली आपको यूज़ करनी है वो कीजिये जो एक्स्ट्रा बनेगी वो ग्रिड में चली जाएगी। इस सेट अप के ऊपर ही आपको सब्सिडी मिले, गी और सबसे इम्पोर्टेन्ट पॉइंट आपके जो सोलर पैनल्स है, वो डीसीआर सोलर पैनल्स होने चाहिए।

डीसीआर सोलर पैनल सुन पैनल्स को कहते हैं जो इंडिया में मैनुफैक्चर हुए हैं। सोलर पैनल ही नहीं उनके अंदर जो सोलर सेल लगे हैं वो सोलर सेल भी इंडिया में मैनुफैक्चर हुए हैं। जो दूसरे नॉर्मल सोलर पैनल्स होते हैं उनमें सोलर सेल्स को दूसरी कंट्री से स्पोर्ट करके इंडिया में असेंबल किया जाता है।

ऐसे सोलर पैनल के ऊपर सब्सिडी नहीं मिलती डीसीआर सोलर पैनल जो इंडिया में मैनुफैक्चर हुए है उन्हीं के ऊपर सब्सिडी मिले गी। अब एक बार आपको ये पूरा प्रोसेसर बता देता हूँ। कैसे आपको सब्सिडी मिले गी, कैसे अप्लाई करना है तो इंडियन गवर्नमेंट ने एक वेबसाइट बनाई थी। नेशनल पोर्टल फॉर रूफ टॉप सोलर स्क्रीन पर आप देख सकते हैं इस वेबसाइट पर जाकर आपको अप्लाई करना है।

इस वेबसाइट का लिंक वीडियो के डिस्क्रिप्शन में मिल जाएगा। इस वेबसाइट पर आप को रजिस्टर करना है। रजिस्टर करने के बाद आपको अपना स्टेट सलेक्ट करना है। अपने डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी सिलैक्ट करनी है। वहाँ पर आपको अपना इलेक्ट्रिसिटी कंज्यूमर नंबर डालना है। ये आपको आपका इलेक्ट्रिसिटी बिल के ऊपर मिल जाएगा। अपने फ़ोन नंबर और ईमेल आईडी के साथ रजिस्टर करना है।

आपको सारे स्टेप्स फॉलो करनी है

एक बार जब आप रजिस्टर कर लोगे तो वहाँ पर आपको सारे स्टेप्स फॉलो करनी है। अप्लाई करने के बाद आपको फिज़िबिलिटी अप्रूवल के लिए वेट करना है। इसका मतलब होता है की डिस्ट्रिब्यूशन कंपनी आपको बतायेगी की हाँ आप सोलर लगवा सकते हो। उसके बाद आपको रजिस्टर्ड के थ्रू ही सोलर लगवाना है।

ये जो वेंडर्स है इसकी लिस्ट आपको इसी वेबसाइट पर मिल जाएगी। यहाँ पर वेबसाइट पे आप देख सकते हैं मेन पेज के नीचे यहाँ पर एक ऑप्शन आ रहा है जैसे आप इसपर क्लिक करोगे तो इसके सामने आपको यहाँ पर काफी सारे स्टेटस के नाम दिख जाएंगे और उसके सामने डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी का नाम लिखा हुआ है तो यहाँ पर आप देख सकते हैं जैसे हरियाणा की मैं बात करता हूँ क्योंकि मैं हरियाणा से हूँ तो यहाँ पर दो ऑप्शन आ रहे हैं तो मेरे वाला जो है वह है दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम लिमिटेड।

उसके सामने एक नंबर लिखा हुआ है यानी की इतने इंपैनल्ड वेंडर्स इस एरिया में है तो मैं अगर यहाँ पर क्लिक हियर पर क्लिक करता हूँ तो यहाँ पर आप देख सकते हैं। काफी सारे वेंडर्स के नाम आ गए हैं, टोटल 65 वेंडर्स यहाँ पर है। तो उनकी मेल आई डी यहाँ पर लिखी हुई है तो इन वेंडर्स को मैं कॉन्टैक्ट कर सकता हूँ। ये सारे हैं इनमें से अगर किसी के थ्रू में सोलर लगवाऊंगा तो ही मेरे को सब्सिडी मिले गी वरना नहीं मिले गी।

वेंडर चूज करते हुए कुछ बातों

अब यहाँ पर वेंडर चूज करते हुए कुछ बातों का आपको ध्यान रखना होगा। सबसे पहले इतने सारे वेंडर्स आपको आपके एरिया के दिख गए इन सबको कॉन्टैक्ट कीजिये। इनको बताइए आपको सो लगवाना है या आपके घर पर? जाएंगे, साइट विजिट करेंगे, आपकी रिक्वाइर्मन्ट को समझ के आपको सोलर सेटअप रिकमेंड करेंगे और प्राइस कोट करके जाएंगे के ये सारे कॉम्पोनेंट्स लगेंगे और इतना प्राइस बैठेगा। आप ऐसे मल्टीप्ल वेंडर्स के थ्रू कोटेशन ले सकते हैं।

इसके बाद जो वेंडर आपको सही लग रहा है उसको फाइनलाइज़ कीजिए और नेशनल पोर्टल पर जाकर आपको अपने वेंडर को सेलेक्ट करना है। ध्यान रखिएगा जो वेंडर है, कोशिश कीजिएगा की आपके आसपास के एरिया में हो। जिससे आपको सर्विस वीज़्ली मिल जाए, दूर का वेंडर आप सेलेक्ट करोगे तो वहाँ पर सर्विस मिलने में दिक्कत होगी।

दूसरी चीज़ जो भी वेंडर आप सेलेक्ट करोगे वो फाइनल वेंडर होना चाहिए। बीच में आप वेंडर चेंज नहीं कर सकते। अगर आपने बीच में वेंडर चेंज किया, काम सही नहीं लगा तो पूरा प्रोसेसर रिजेक्ट हो जाएगा। आपको दुबारा से अप्लाई करना पड़ेगा। एक बार वेंडर से इन्स्टॉलेशन करने के बाद आपको अपनी डिटेल सबमिट करनी है।

एक मीटर के लिए एक बार इंस्पेक्शन होगा, डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी की तरफ से उसके बाद आपको कमिशनिग सर्टिफिकेट मिल जाएगा। एक बार आपको कमिशन सर्टिफिकेट मिल गया, फिर आपको अपनी बैंक डिटेल्स ऐड करनी है, एक कैन्सर चेक देना है और सब्सिडी का अमाउंट 30 दिन के अंदर डाइरेक्टली आपके बैंक अकाउंट में आएगा।

कोई बीच मिडलमैन नहीं है। लास्ट में सवाल आ जाता है की सब्सिडी मिलने के बाद सोलर सेटअप आपको कितने का पड़ेगा? तो करेंट्ली इंडिया में सोलर पैनल के प्राइस काफी ज्यादा कम हो गए हैं। अगर इन प्राइस को मैं लेकर चलूं तो एक किलोवॉट का सोलर सेटअप अगर आप अपने घर पर लगवाते हो तो 40 से ₹50,000 के बीच में आपको कहीं पड़ता है।

सोलर सेट अप विथ उस सब्सिडी इतने अमाउंट का आपको पड़ेगा अगर इसमे आपको ₹18,000 की सब्सिडी मिलती है। मान लीजिए आप किसी नॉर्मल स्टेट में रहते हैं और ₹18,000 की सब्सिडी आपको मिलती है।

एक किलोवॉट सोलर पर तो आप स्क्रीन पर देख सकते हैं वो अमाउंट कितना कम हो जाता है। इसी तरह से अगर आप दो किलो और तीन किलोवॉट या फिर 10 किलोवॉट तक का सोलर सेटअप लगाते हो तो उसकी जो एक्चुअल कॉस्ट है वो भी मैंने यहाँ पर लिखी हुई है और सब्सिडी मिलने के बाद उसकी कॉस्ट लगभग कितनी बैठेगी वो भी लिखी हुई है।

अगर आप किसी स्पेशल स्टेट से हो तो ये अमाउंट डेफिनेटली थोड़ा सा और घट जाएगा। तो ये थी एक वीडियो सोलर सब्सिडी के ऊपर करेंट्ली सोलर पैनल के प्राइसेस काफी ज्यादा कम हो

Website Cilck below

https://solarrooftop.gov.in/solar-panel-subsidy-in-india/

Leave a comment

Translate »